Google Webmaster Tools क्या है और वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है?

Google Webmaster Tools, Webmaster Tools,

Google Webmaster Tools क्या है और ये क्या काम आता है। उसके बारे में मैं आप को बताऊंगा और ये एक ब्लॉग या फिर एक वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी हैं, वो भी आज हम जानेंगे। Webmaster Tools को Google Search Console भी कहाँ जाता है। Webmaster किसी भी साइट की पोस्ट को गूगल के सर्च इंजन में इंडेक्स करने का काम करता है।

Google Webmaster Tools क्या है?

मैं आपको एक उदाहरण के जरिये समजाता हूँ, जैसे की आपने अपनी वेबसाइट या फिर ब्लॉग पे कितनी भी अच्छी पोस्ट लिखी हो और कितना भी अच्छा उसका SEO किआ हो। लेकिन आपकी वो पोस्ट गूगल के डाटा में नहीं है, तो आप जीतनी भी मेहनत करले आपकी पोस्ट कभी भी गूगल पे रैंक ही नहीं करेगी। इसका ये कारण है की आपने गूगल को बताया ही नहीं की आपकी ये वेबसाइट है और ये इस वेबसाइट की पोस्टे है।

गूगल को आपकी वेबसाइट के बारे में पता चले, इसके लिए आपको अपनी वेबसाइट को Google Webmaster Tools में Submit करना होगा। इसके लिए आप गूगल में जाकर Google Search Console या फिर Webmaster Tools सर्च करेंगे तो, आपके सामने google.com/webmasters ये वेबसाइट या फिर search.google.com/search-console ये वेबसाइट आ जाएगी।

अगर आप ऊपर बताई पहली साइट को ओपन करते है, तो साइट का जो पेज खुलेगा। उसमे आपको Search Console लिखा हुआ, एक बटन देखने को मिलेगा। जो आपको google search console की साइट में ले जायेगा और अगर आप दूसरे नंबर की साइट पे जाते है, तो उसका जो पेज खुलेगा। उसमे आपको Start बटन का ऑप्शन देखने को मिलेगा। जब आप स्टार्ट बटन पे क्लिक करेंगे, तो आपको वो गूगल सर्च कंसोल में ले जायेगा।

जब आपके सामने Search Console की साइट ओपन होगी। तब आपको एक मैसेज का पॉपअप दिखेगा। जिसमे लिखा होगा वेलकम टू सर्च कंसोल और उसमे एक बाजु आपको आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का जो डोमेन नेम है। वो आपको वहां पर सबमिट करना है और फिर कंटिन्यू पर क्लिक कर देना है।

जब आप कंटिन्यू पर क्लिक कर देंगे, उसके बाद आपको अपनी वेबसाइट को वेरीफाई करना होगा। वेबसाइट को वेरीफाई करने के लिए आपको Google Search Console की तरफ से एक कोड दिया जायेगा, जिसे आपको अपनी वेबसाइट में डालना पड़ेगा। जिससे आपकी वेबसाइट गूगल के लिए वेरीफाई हो जाएगी और गूगल को भी पता चल जायेगा की ऐसी भी कोई साइट है।

इससे ये फायदा होगा की अगर कोई गूगल पे कुछ ऐसा सर्च करता है, जो आपकी वेबसाइट में भी है। तो गूगल आपकी वेबसाइट को भी चेक करेगा और गूगल को ऐसा लगा की इस साइट में अच्छी जानकारी है। तो गूगल आपकी साइट को उसके सामने रख देगा। जिससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग सुधरेगी और आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक भी बढ़ेगा।

Google Webmaster Tools में आपको अपनी वेबसाइट का Sitemap भी जोड़ना पड़ेगा और Webmaster tools में Sitemap जोड़ना बहुत ही आसान है। Webmaster में Sitemap को कैसे जोड़ते है, इसके ऊपर आपको YouTube पे बहुत साडी वीडियोस मिल जाएगी। साइट मैप का काम ये है की जब आप अपनी साइट पे कोई नई पोस्ट लिखेंगे तो वो पोस्ट गूगल पे अपने आप इंडेक्स हो जाएगी और आपको अपनी पोस्ट को Google Search Console में जाकर इंडेक्स नहीं करना पड़ेगा।

जब आप कोई ऐसी पोस्ट लिखे जो आज तक किसी ने न लिखी हो या फिर आपके पास कुछ ऐसी जानकारी है, जो आप सबसे पहले लिखकर गूगल पे इंडेक्स करना चाहते हो। ताकि लोग आपकी साइट पर सबसे पहले आये, तो आपको Webmaster Tools में इसका भी ऑप्शन दिया है। जिसकी मदद से आप अपनी पोस्ट के यूआरएल को गूगल में इंडेक्स कर सकते है, वो कुछ मिनिटो में।

आपने गूगल पे ऐसी बहुत सारी पोस्टे देखि होंगी, जो कुछ मिनिटों पहले पब्लिश हुई होती है और गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करती है। अगर आप के पास भी कुछ ऐसी ट्रेडिंग जानकारी है, जो केवल आप जानते है तो उस जानकारी पर पोस्ट लिख के उसे आप जल्दी इंडेक्स कराके गूगल के फर्स्ट पेज पे अपनी वेबसाइट को रैंक करा सकते है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share More