Blogging kya hai or Blogging ke fayde kya hai Hindi me

Covered Topics

  1. Blogging kya hai
  2. ब्लॉग्गिंग के कितने प्रकार है।
  3. Blogging ke fayde
  4. हर्ष अग्रवाल Blogging Earning

 

सबसे पहले हम बात करते है, की ब्लॉग्गिंग क्या है (Blogging kya hai)। दोस्तों में आपका ज्यादा समय ख़राब नहीं करुगा। तो चलिए हम ब्लॉग्गिंग के बारे में जानते है। दोस्तों अगर आपको किसी भी चीज के बारे में जानना है। तो आप क्या करेंगे मुझे पता है, की आप YouTube पे वीडियोस देखेंगे। या फिर Google पे सर्च करेंगे और आपको यूट्यूब के वीडियोस से कुछ जानकारी न मिले। तो आप गूगल पे ढूंढेंगे और आपको गूगल पे जो जानकारी पढ़ने को मिलेगी। उसे ब्लॉग्गिंग कहते है। अभी आप जो ये पढ़ रहे है, इसे ही ब्लॉग्गिंग कहते है। इंटरनेट पर आपको जो जानकारी पढ़ने को मिले। उसे Blogging कहाँ जाता है और जानते है की Blogging kya hai.

Blogging kya hai, Blogging ke fayde, What is Blogging

Blogging के कितने प्रकार है।

Blogging बहुत से प्रकार की होती है और वो निर्भर करता है, की आप किस तरह की ब्लॉग्गिंग करना चाहते है। किस टॉपिक पे ब्लॉग बनाना चाहते हैं। वैसे तो blogging के बहुत सारे प्रकार है। लेकिन उनमें से मैं कुछ प्रकार आपको निचे देखने को मिलेंगे। जिसे देखकर आपको पता चलेगा की ब्लॉग्गिंग इस प्रकार की होती है। इसमें से आप भी कुछ सिख सकते है और ब्लॉग्गिंग की मदद से दुसरो को भी सीखा सकते हैं की “blogging kya hai” या फिर दूसरी जानकारी भी दे सकते हैं।

ब्लॉग्गिंग के प्रकार

1 – Niche Blogging: इस प्रकार की ब्लॉग्गिंग में किसी भी केटेगरी को टारगेट करते हुए। उस पर ब्लॉग बनाया जाता है और उसी टॉपिक के रिलेटेड आर्टिकल्स लिखे जाते है। इसे Niche ब्लॉग्गिंग कहाँ जाता हैं। Example के जरिये में आपको समझता हूँ। जैसे की News Blog ब्लॉग में केवल आपको न्यूज़ पढ़ने को मिलेंगी। Technical Blog में केवल टेक से जुड़ी जानकारी पढ़ने को मिलेंगी।

2 – Micro Niche Blogging: इस तरह की ब्लॉग्गिंग में मेहनत कम और फायदा ज़्यादा होता है। इसमें Niche Blogging के मुकाबले मेहनत काफी कम होती है। इस तरह का ब्लॉग गूगल पे जल्दी रैंक करता हैं। इसमें किसी भी एक चीज़ को टारगेट करते हुए, उस टॉपिक के ऊपर कुछ आर्टिकल लिखे जाते हैं। इसे माइक्रो नीच ब्लॉग्गिंग कहते है। Example में कुछ ऐसा है, की टेक्निकल टॉपिक कुछ ऐसे माइक्रो टॉपिक होते है। जिसके बारे में लोग गोल पे ज्यादा सर्च करते है। उस पर ब्लॉग बनाया जाता है।

जैसे की किसी को Paytm के कस्टमर केयर में कॉन्टेक्ट करना है और उन्हें पता नहीं है, की कॉन्टेक्ट डिटेल कहाँ से मिलेगी। तो वह Paytm के बारे में डिटेल पाने के लिए गूगल में सर्च करेगा और उसी टॉपिक के ऊपर किसीने ब्लॉग बनाया है और उस पर केवल पेटीएम के बारे में पोस्ट मिलती है। इस प्रकार की ब्लॉग्गिंग को माइक्रो नीच ब्लॉग्गिंग कहा जाता है।

3 – Personal Blogging : इस प्रकार की ब्लॉग्गिंग में लोग अपनी जानकारी सभी के साथ ब्लॉग के जरिये शेयर करते है और लोग उनके बारे में जानना भी चाहते है। ऐसी ब्लॉग्गिंग में लोग जंहा भी जाते है, उनकी जानकारी सभी को ब्लॉग के माध्यम से देते हैं। उनके पोस्ट पढ़कर घर बैठे सभी को जानकारी मिलती है। जिस ब्लॉग में आपको केवल किसी के बारे में पर्सनल जानकारी मिलती है। उसे Personal Blogging कहाँ जाता है।

Blogging के फ़ायदे

ब्लॉग्गिंग को दो तरह के लोग स्टार्ट करते है। एक तो वो लोग होते है। जिनको लिखना काफी पसंद है। इसीलिए वो ब्लॉग स्टार्ट करते है और दूसरे वो लोग होते है। जो  पैसा कामना चाहते है। सायद आप मैं से कई लोग नहीं जानते होंगे, की ब्लॉग्गिंग से पैसा कमाया जा सकता है और Blogging को करियर भी बना सकते है। ब्लॉग्गिंग पे आप इतना पैसा कमा सकते है, की आपको कहीं भी नौकरी करने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

जब आप आप ब्लॉग्गिंग की शुरुआत करे, तब आप उसे पार्ट टाइम लेकर ही चले। क्युकी की अगर आप जॉब छोड़ के या फिर पढ़ाई छोड़ के ब्लॉग्गिंग करेंगे, तो आप के साथ ऐसा भी हो की आप ब्लॉग्गिंग में सफल न हो और बाद में सोचे की मैंने जॉब क्यों छोड़ दी, पढाई क्यों छोड़ दी।इसे शुरुआत में पार्ट टाइम ही लेकर चलना चाहिए। जब आपको लगे की मैं अब Job से ज्यादा पैसा ब्लॉग्गिंग से कमा रहा हूँ। तब आप सोच सकते है, की जॉब करनी चाहिए की नहीं।

इंडिया के टॉप 10 ब्लॉगर में आने वाले हर्ष अग्रवाल के बारे में सायद आप जानते होंगे। हर्ष अग्रवाल को लिखने का काफी शौक था। उन्होंने 2008 में एक ब्लॉग स्टार्ट किआ था। जिसका नाम उन्होंने Shout Me Loud रखा। अब ये ब्लॉग काफ़ी पॉपुलर हो चूका है। तब वह नौकरी भी कर रहे थे और साथ में घर आने के बाद ब्लॉग्गिंग को भी टाइम देते है। ब्लॉग्गिंग में उनकी मेहनत के कारन उन्हें ब्लॉग्गिंग में Success मिलना स्टार्ट हो गयी और ब्लॉग्गिंग में नौकरी से ज्यादा पैसे कमाने लग गए। तब जाके उन्होंने नौकरी छोड़ी और वह अभी ब्लॉग्गिंग से इतने पैसे कमाते है की आप सोच नहीं सकते।

हर्ष अग्रवाल Blogging Earning

हर्ष अग्रवाल ने अपनी साइट में जून 2017 की Earning रिपोट जारी की थीं। जिसे जानकर आपको विश्वास नहीं होगा। उनकी June 2017 की लगभग 22 लाख रुपए के आसपास।

Read More…

इसे जानकर कई लोगो को हैरानी जरूर हुई होगी की ब्लॉग्गिंग से भी इतना ज़्यादा पैसा कमाया जा सकता है। अगर आप भी ब्लॉग्गिंग स्टार्ट करना चाहते हो तो, आपको SEO जरूर आना चाहिए। Seo के बिना आप ब्लॉग्गिंग कर नहीं पहोगे। Seo की मदद से आप अपनी वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करा सकते हो। मेरी सलाह है, की अगर आप ब्लॉगर बनाना चाहते हो तो अभी से सीखना स्टार्ट कर दो। अब आपको समज में आ गया होगा की Blogging kya hai।

 

5 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share More